Page Break और Section Break

MS Word मे कई प्रकार के Breaks होते हैं, जिन्हें अलग – अलग कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है, जैसे कि Page Break और Section Break आदि। एमएस वर्ड डॉक्यूमेंट में Header – Footer, Page Numbers आदि की जो Formatting करी जाती है वह पूरे डॉक्यूमेंट में एक जैसी ही रहती है, लेकिन Break का प्रयोग करके, अलग – अलग फोर्मेटिंग का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Breaks का प्रयोग तब किया जाता है जब हम कोई पेपर, आर्टिकल, रिपोर्ट या किताब लिख रहें हो और जिनमें कई सारे सेक्शन हो व हमें हर सेक्शन की Formatting अलग तरह से करनी हो। जैसे कि Header – Footer, footnotes, और page numbers आदि।

Page Break और Section Break में अंतर

पेज ब्रेक डॉक्यूमेंट के केवल Body Text को अलग करता है जबकि Section Break डॉक्यूमेंट के Body Text के साथ-साथ page margins, Header and Footer, Page numbers आदि को भी अलग करता है।

Page Break व Section Break के प्रकार

पेज ब्रेक और सेक्शन ब्रेक निम्न प्रकार के होते हैं –

Page Break – Simple page breaks, Column breaks और Text wrapping breaks

Section Break – next page, continuous, even page, and odd page breaks.

Page Break & Section Break

Page Break को Insert करने के लिए निम्न स्टेप्स का अनुसरण करें –

  1. डॉक्यूमेंट में वहाँ पर क्लिक करें, जहां आप ब्रेक दिखाना चाहते हैं।
  2. पेज लेआउट टैब पर क्लिक करें।
  3. Page Setup ग्रुप में Breaks कमांड पर क्लिक करें।
  4. खुलने वाले मेन्यू में अपनी जरूरत के अनुसार ब्रेक पर क्लिक करें।

ब्रेक को Delete कैसे करें :

Word में Breaks छिपे (hidden) हुए होते हैं। यदि आप उनको delete करना चाहते है तो उनका दिखना जरूरी है। Breaks को show कराने के लिए निम्न steps का पालन करें

  1. होम टैब से Show/Hide कमांड पर क्लिक करें।
Page Break & Section Break
  1. कमांड पर क्लिक करते ही Breaks दिखने लगेंगे। ब्रेक को सेलेक्ट करने के लिए डबल-क्लिक करें।
  2. ब्रेक हटाने के लिए Backspace या Delete को प्रेस करें।

Page Break के प्रकार

जैसाकि हमने ऊपर जाना कि पेज ब्रेक तीन प्रकार के होते हैं, अब हम उनके बारे मे विस्तृत रूप से जानेगे-

  • Simple page breaks – इस प्रकार के break में cursor के बाद का सारा text अगले पेज़ पर खिसक ( shift ) जायेगा।
  • Column breaks – यदि आप डॉक्यूमेंट में कॉलम का उपयोग करना चाहते हैं, तो कॉलम ब्रेक का इस्तेमाल करना पड़ेगा। कॉलम ब्रेक डालते समय कर्सर के दाईं ओर का सारा टेक्स्ट, जहां ब्रेक डाला जाता है, अगले कॉलम में शिफ्ट हो जाता है।
  • Text wrapping – टेक्स्ट रैपिंग ब्रेक कर्सर के दाईं ओर के टेक्स्ट को अगली लाइन में ले जाता है। इस प्रकार का ब्रेक विशेष रूप से तब उपयोगी होता है जब आपके डॉक्यूमेंट में Images हों।

Section Breaks के प्रकार

Section Break, डॉक्यूमेंट के body Text और उससे संबंधित Formatting को अलग करता है, जैसे कि page margins, header and footer, page numbers, footnote आदि।
जैसाकि हमने ऊपर जाना कि सेक्शन ब्रेक के चार प्रकार होते हैं, अब हम उनके बारे मे विस्तृत रूप से जानेगे-

(1) Next Page Break – Next Page ब्रेक कर्सर के दाईं ओर के टेक्स्ट को अगले पृष्ठ पर ले जाता है, साथ ही डॉक्यूमेंट को सेक्शन में विभाजित करता है, जिससे हर सेक्शन में मार्जिन, हेडर व फुटर, पेज़ नंबर आदि को अलग-अलग दिया जा सकता है। यह सबसे उपयोगी तब होता है, जब आप डॉक्यूमेंट को अध्यायों या अनुभागों में विभाजित करना चाहते हों।

(2) Continuous Breaks – Continuous ब्रेक कर्सर के दाईं ओर के टेक्स्ट को अगले पृष्ठ पर न ले जाकर उसी पेज़ पर रखता है व साथ ही डॉक्यूमेंट को सेक्शन में विभाजित कर देता है। हर सेक्शन में मार्जिन, हेडर फुटर पेज़ नंबर आदि को अलग-अलग दिया जा सकता है।

(3) Even Page Breaks – एक Even Page Break कर्सर के दाईं ओर के सभी टेक्स्ट को अगले even पेज़ पर शिफ्ट कर देगा।

(4) Odd Page Breaks – एक Odd Page Break कर्सर के दाईं ओर के टेक्स्ट को अगले Odd Page पर शिफ्ट कर देगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top