Currency Symbol of India – Interesting Facts

दोस्तों, आज की इस पोस्ट में हम Currency Symbol of India के बारे में जानेगें। हम सभी जानते हैं कि भारत की आधिकारिक मुद्रा(official currency) भारतीय रूपया है। भारतीय रुपये का नाम रुपिया से लिया गया है, जो 16 वीं शताब्दी में सुल्तान शेर शाह सूरी द्वारा पहली बार जारी किया गया एक चांदी का सिक्का था।

Currency Symbol of India
Currency Symbol of India

Facts About Currency Symbol of India

भारत के Currency Symbol के बारे में कुछ मुख्य तथ्य इस प्रकार हैं-

  • भारत की करन्सी रूपया है। भारतीय रुपये के लिए करन्सी कोड INR है व Currency Symbol of India ‘₹’ है।
  • 15 जुलाई 2010 को भारत सरकार द्वारा भारतीय रुपये(ISO 4217) के सिम्बल को स्वीकार किया गया था।
  • Currency Symbol of India भारतीय विचारधारा का प्रतीक है। इस सिम्बल में देवनागरी लिपि “र” और इंग्लिश के कैपिटल अक्षर “R” (जिसमें वर्टिकल लाइन नहीं है) का समायोजन है।
  • जिसमें टॉप पर दो समानांतर रेखाएं (parallel lines) हैं। इसके शीर्ष की समानांतर रेखाएं (parallel lines) भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का प्रतीक है।
  • यह दोनों क्षैतिज रेखाएं अंकगणितीय चिह्न ‘बराबर'(equal to) का भी प्रतिनिधित्व करती हैं, जो एक संतुलित अर्थव्यवस्था को दर्शाता है।
  • भारतीय रुपये के सिम्बल को उदय कुमार धर्मलिंगम द्वारा डिजाइन किया गया है। जिन्होंने आईआईटी बॉम्बे से Design में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है।
  • Currency Symbol of India का चुनाव वित्त मंत्रालय द्वारा आयोजित एक प्रतियोगिता के माध्यम से किया गया था।
  • यह सिम्बल भारतीय करन्सी को एक विशिष्ट पहचान देता है, जो इसे श्रीलंका, पाकिस्तान और इंडोनेशिया जैसे अन्य देशों की समान मुद्राओं से अलग करने में मदद करता है।
  • इससे पहले, भारत कई रुपयों और एक रुपये का प्रतिनिधित्व करने के लिए क्रमशः “Rs” और “R” सिम्बल का उपयोग करता था।
  • भारतीय करन्सी का पेपर बनाने के लिए कपास और कपास के रंग का उपयोग किया जाता है।

Other Posts

National Bird of IndiaNational River of IndiaNational Emblem of India
National Flag of IndiaNational Song of IndiaNational Calander of India

भारत में वर्तमान में एक रुपये, दो रुपये, पांच रुपये और दस रुपये के मूल्य में सिक्के जारी किए जाते हैं। 30 जून, 2011 से 1 पैसे, 2 पैसे, 3 पैसे, 5 पैसे, 10 पैसे, 20 पैसे और 25 पैसे के मूल्यवर्ग के सिक्कों को प्रचलन से वापस ले लिया गया है और अब वे वैध मुद्रा(Legal Currency) नहीं हैं।

वर्तमान समय में भारत में 10 रुपये, 20 रुपये, 50 रुपये, 100 रुपये, 200 रुपये, 500 रुपये और 2000 रुपये के बैंक नोट जारी किए जाते हैं। चूँकि वे भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी किए जाते हैं अतः इन नोटों को बैंकनोट (रिज़र्व बैंक) के रूप में संदर्भित किया जाता है। 2 रुपये और 5 रुपये के मूल्यवर्ग के नोट अब मुद्रित नहीं होते हैं क्योंकि वे अब सिक्कों के रूप में आते हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक मुद्रा से संबंधित प्रावधानों को जारी और विनियमित करता है। रिज़र्व बैंक वर्तमान में अहमदाबाद, बैंगलोर, बेलापुर, भोपाल, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, गुवाहाटी, हैदराबाद, जयपुर, जम्मू, कानपुर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, नागपुर, नई दिल्ली, पटना और तिरुवनंतपुरम में 19 निर्गम कार्यालयों के माध्यम से मुद्रा संचालन को मैनेज करता है। बैंकनोट प्रोडक्शन प्लांट से इन कार्यालयों में फ्रेश बैंकनोट वितरित किए जाते हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी महात्मा गांधी श्रृंखला के 500 रुपये और 1,000 रुपये के बैंक नोटों की वैध मुद्रा की स्थिति(Legal Tender status) को भारत सरकार द्वारा 8 नवंबर 2016 को वापस ले लिया गया है।

FAQ on Currency Symbol of India

भारत का currency symbol किसने डिजाइन किया था?

IIT बॉम्बे से डिजाइन में PG करने वाले उदय कुमार धर्मलिंगम ने भारतीय रुपये के प्रतीक को डिजाइन किया था। इसे 15 जुलाई, 2010 को देश की सरकार द्वारा अपनाया गया था।

भारतीय करन्सी का क्या नाम है?

भारतीय रुपया (INR) भारत की करन्सी है, और सिक्कों को पैसे के रूप में जाना जाता है। 100 पैसों से एक रूपया बनता है। भारतीय रुपये को सिम्बल ₹ के द्वारा दर्शाया जाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top